भावनात्मक संतुलन और तनाव हार्मोन

तनाव हार्मोनों को नियंत्रित करने के लिए तंत्रिका तंत्र प्रमुखतः जिम्मेदार होता है क्योंकि यह हमारे भावनात्मक संतुलन के लिए जिम्मेदार होता है।

CO-CEO, NEUROFIT
2 मिनट का पठन
OCT 4, 2023
भावनात्मक असंतुलन और अनियमितता
तंत्रिका तंत्र भावनात्मक संतुलन में एक प्रमुख कारक है। यह शरीर के तनाव के प्रतिक्रिया को नियंत्रित करने और सेरोटोनिन, कॉर्टिसोल और नोरेपिनेफ्रिन जैसे हार्मोनों के स्वस्थ स्तर को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार होता है। इसलिए जब तंत्रिका तंत्र अनियमित होता है, तो अक्सर भावनात्मक असंतुलन का अनुभव होता है।
सेरोटोनिन: खुश हार्मोन
सेरोटोनिन एक हार्मोन है जो मनोवृत्ति को नियंत्रित करने में मदद करता है, और इसे अक्सर "खुश हार्मोन" के रूप में संदर्भित किया जाता है। जब सेरोटोनिन के स्तर कम होते हैं, हम उदास या चिंतित महसूस कर सकते हैं। और यह पाया गया है कि एंटेरिक तंत्रिका तंत्र (आंत-मस्तिष्क) हमारे शरीर के सेरोटोनिन का 90% से अधिक उत्पादन करता है। इसलिए यह समझना महत्वपूर्ण है कि जब हमारी आंत संतुलित नहीं होती है, तो हमारा मनोवृत्ति भी प्रभावित हो सकता है।
कॉर्टिसोल: तनाव हार्मोन
कॉर्टिसोल एक और हार्मोन है जो भावनात्मक संतुलन में भूमिका निभाता है। इसे अक्सर "तनाव हार्मोन" के रूप में संदर्भित किया जाता है क्योंकि यह तनाव के प्रतिक्रिया में छोड़ा जाता है। जब कॉर्टिसोल के स्तर बहुत ऊचे होते हैं, हम चिंतित या अधिक तनावग्रस्त महसूस कर सकते हैं। और जब स्तर बहुत कम होते हैं, हम थकावट या सुस्ती महसूस कर सकते हैं।
नोरेपिनेफ्रिन: लड़ाई-या-उड़ान हार्मोन
नोरेपिनेफ्रिन एक और हार्मोन है जो भावनात्मक संतुलन में शामिल है। इसे कभी-कभी "लड़ाई-या-उड़ान हार्मोन" के रूप में संदर्भित किया जाता है क्योंकि यह तनाव के प्रतिक्रिया में छोड़ा जाता है। जब नोरेपिनेफ्रिन के स्तर बहुत ऊचे होते हैं, हम चिंतित या तनावग्रस्त महसूस कर सकते हैं। और जब स्तर बहुत कम होते हैं, हम थकावट या उदासी महसूस कर सकते हैं।
भावनाओं को संतुलित करने के लिए तंत्रिका तंत्र को संतुलित करना
तंत्रिका तंत्र को नियंत्रित करने का एक सरल तरीका जीवनशैली में परिवर्तन करना है। उदाहरण के लिए, स्वस्थ आहार खाना, नियमित व्यायाम करना, और पर्याप्त नींद लेना सभी एक स्वस्थ तंत्रिका तंत्र को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं।
एक और आम रूप से प्रभावी तरीका शरीर के लिए तनाव इनपुट को कम करना है। सोशल मीडिया से ब्रेक लेना, शराब या अन्य पदार्थों से बचना जो शरीर को तनावग्रस्त करते हैं, और स्व-देखभाल का अभ्यास करना सभी तनाव इनपुट को कम करने के महान तरीके हैं।
यदि आप भावनात्मक असंतुलन से जूझ रहे हैं, तो याद रखें कि यह शायद व्यक्तिगत नहीं हो सकता और एक अनियमित तंत्रिका तंत्र के कारण हो सकता है। धन्यवाद, ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप अपने तंत्रिका तंत्र को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं और भावनात्मक संतुलन प्राप्त कर सकते हैं।
क्या आप अपने तंत्रिका तंत्र को नियंत्रित करने के लिए तैयार हैं?
NEUROFIT डाउनलोड करें
इस लेख को साझा करें